कानपुर:अयोध्या फैसले से पहले जेल जाने से हटे अतिसंवेदनशील क्षेत्र के सीओ भगवान सिंह

कानपुर:अयोध्या फैसले से पहले जेल जाने से हटे अतिसंवेदनशील क्षेत्र के सीओ भगवान सिंह

– देर रात या शनिवार को कर्नलगंज में दी जा सकती है किसी को जिम्मेदारी
– कानपुर में बिल्हौर और सदर सर्किल के भी रह चुके हैं सीओ
– जालौन में हुए हत्याकांड में सुनाई गई सजा, उस समय थे दारोगा
कानपुर, 08 नवम्बर । अयोध्या फैसले को लेकर जहां कानपुर प्रशासन इन दिनों तैयारियों में लगा हुआ है तो वहीं अतिसंवेदनशील क्षेत्र कर्नलगंज के सीओ भगवान सिंह जेल चले गये। जिससे इस क्षेत्र की जिम्मेदारी अब किसको दिया जाय एसएसपी के लिए चुनौती बन गया है। फिलहाल शुक्रवार को दिनभर यह पद खाली रहा और किसी को कार्यवाहक भी नहीं बनाया गया।
कर्नलगंज सर्किल के सीओ भगवान सिंह 2004 में जालौन के कोंच कोतवाली में बतौर दारोगा पद पर तैनात थे। एक फरवरी 2004 को कोंच कोतवाली में सपा के कद्दावर नेता सुरेंद्र सिंह निरंजन, उनके छोटे भाई रोडवेज कर्मचारी महेंद्र सिंह निरंजन और दयाशंकर झा की हत्या हो गई थी। मामले में तत्कालीन थाना प्रभारी देव दत्त सिंह रौठार, दारोगा भगवान सिंह सहित अन्य पुलिस कर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा लिखाया गया था।

थाना परिसर में सपा नेता सहित चार लोगों की हत्या के बाद उस समय पूरे जनपद में खूब बवाल हुआ था। 15 वर्ष से विचाराधीन इस मुकदमें में गुरुवार को अपर एवं सत्र न्यायाधीश एडीजे प्रथम अमित पाल सिंह ने सीओ भगवान सिंह सहित आठ आरोपियों को दोषी माना था। इनमें छह को आजीवन कारावास की सजा सुनाते हुए जेल भेज दिया गया। जिसमें तत्कालीन थाना प्रभारी देव दत्त सिंह रौठार और सिपाही भगवान सोनी की मौत हो चुकी है। जिससे कानपुर का कर्नलगंज सर्किल क्षेत्र खाली हो गया और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक तय नहीं कर पा रहे कि अयोध्या फैसले से पहले अतिसंवेदनशील क्षेत्र कर्नलगंज में किसको जिम्मेदारी दी जाये। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंत देव ने बताया कि अभी कर्नलगंज में किसी को जिम्मेदारी नहीं दी गयी है और जल्द ही तेज तर्रार व अनुभवी सीओ को जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।

बताते चलें कि अयोध्या फैसले को लेकर एसएसपी ने सभी सर्किल क्षेत्र के क्षेत्राधिकारियों को कई बिन्दुओं पर सतर्क रहने को कहा था और कुछ रिपोर्टें भी तैयार करवायी थी। ऐसे में अब जो भी नया सीओ आएगा उसके लिए तैयारियां करना कठिन होगा। माना जा रहा है कि किसी आईपीएस को जिम्मेदारी दी जाएगी या अन्य किसी वरिष्ठ पीपीएस को।
चर्चित इंस्पेक्टर ध्यान सिंह के भाई हैं भगवान सिंह
वर्तमान में सीओ कर्नलगंज के पद पर तैनात भगवान सिंह के भाई ध्यान सिंह भी कानपुर के कई थानों में तैनात रह चुके हैं। कई कुख्यात अपराधियों से मुठभेड़ करने के साथ ही कानपुर में कई गुडवर्क करने वाले ध्यान सिंह हरबंश मोहाल, कोतवाली, चौबेपुर सहित कई थानों में तैनात रहे। भगवान सिंह का पूरा परिवार इन दिनों लखनऊ में रह रहा है।

भगवान सिंह जालौन के बाद कई शहरों में रहे और दारोगा से इंस्पेक्टर बने। इसके बाद 2018 में प्रमोशन पाकर पुलिस उपाधीक्षक बन गये और कानपुर में उनकी पहली पोस्टिंग बिल्हौर सर्किल में हुई। यहां पर लंबे समय तक रहने के बाद सदर सर्किल क्षेत्र की जिम्मेदारी मिली। सदर के बाद अनुभव के साथ अयोध्या फैसले को देखते हुए उन्हे अतिसंवेदनशील क्षेत्र कर्नलगंज की कमान सौंपी गयी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *