कानपुर में पकड़े गये आठ विदेशी जमाती, मुकदमा दर्ज

कानपुर में पकड़े गये आठ विदेशी जमाती, मुकदमा दर्ज


– स्वास्थ्य परीक्षण के लिए भेजा गया जिला अस्पताल

कानपुर, 02 अप्रैल। दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके आयोजित हुई तबलीगी जमात में शामिल हुए आठ विदेशी कानपुर पहुंच गये हैं। जानकारी पर पुलिस ने सभी को हिरासत में ले लिया और स्वास्थ्य परीक्षण के लिए जिला अस्पताल उर्सला भेजा है। यहां पर अगर यह लोग कोरोना वायरस से पॉजीटिव पाये जाते हैं तो हैलट अस्पताल भेजा जाएगा और निगेटिव पाये जाते हैं तो नरैना संस्थान में 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन में रखा जाएगा। फिलहाल सभी के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए देश में लागू किए गए लॉकडाउन के बीच बीते दिनों तेलंगाना से आई एक खबर से हड़कंप मच गया था। वहां छह लोगों की मौत हो गई थी। पड़ताल में पता चला था कि ये सभी दिल्ली में हुए एक बड़े धार्मिक जलसे में शामिल होने के बाद घर लौटे थे। यह जलसा था तबलीगी जमात, जो दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित मरकज में आयोजित किया गया था। इसके बाद से पूरे देश में हड़कंप मचा हुआ है और हर जनपद का जिला प्रशासन सूची एकत्र कर रहा है कि जनपद से कितने लोग तबलीगी जमात में शामिल हुए हैं।

कानपुर जिला प्रशासन अभी ऐसे लोगों की सूची बना ही रहा था कि पुलिस को पता चला कि दिल्ली के तबलीगी जलसे में शामिल आठ विदेशी कानपुर इस्लाम के प्रचार प्रसार के लिए आये हैं। हरकत में आयी पुलिस ने बाबूपुरवा थानाक्षेत्र के इलाके से आठ विदेशियों को गुरुवार हिरासत में ले लिया। इसके साथ ही सभी के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कर लिया।

पुलिस ने सभी को स्वास्थ्य परीक्षण के लिए जिला अस्पताल उर्सला भेजा है। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. अशोक कुमार शुक्ला ने बताया कि अभी सभी का परीक्षण जिला अस्पताल में चल रहा है अगर कोरोना से संक्रमित पाये गये तो हैलट अस्पताल में बने आईडीएच वार्ड में इलाज के लिए भर्ती कराया जाएगा। अगर संक्रमित नहीं पाये गये तो पनकी थानाक्षेत्र के नरैना इंस्टीट्यूट में बने क्वारंटाइन सेंटर में 14 दिनों के लिए रखा जाएगा। इसके बाद ही इन्हे छोड़ा जाएगा और आगे पुलिस कार्रवाई करेगी।

यह रहे सभी जमातियों के नाम
पुलिस अधीक्षक दक्षिण अर्पणा गुप्ता ने बताया कि खुफिया जानकारी पर आठ विदेशियों को पकड़ा गया है। इन सभी के खिलाफ लॉकडाउन के उल्लंघन मामले में मुकदमा दर्ज किया गया है। बताया पकड़े गये विदेशियों के नाम इस प्रकार हैं। ईरान के रहने वाले इब्राहिम फौलादी, अब्दुल रहीम मजदनी, यूनुस रेगी, अफगानिस्तान के रहने वाले महमूद शाह हसैनी, शब्बीर अब्दुल रहीम, जरीन जायजान मोहम्मद, बारातरहमदुल्लाह, यूके के रहने वाले दाऊद अयूब इस्माइल हैं।

प्राइमरी स्कूल में किया जा रहा ‘वाजिद’ का क्वारंटाइन
बिधनू ब्लॉक के पिपरगवां गांव में प्राप्त सूचना के आधार पर लाल मोहम्मद के पुत्र वाजिद जो कि 13 मार्च को दिल्ली के निजामुद्दीन में चल रही तबलीगी जमात में शामिल हुआ था और रुका था। 20 मार्च को वह अपने गांव पिपरा गांव में आया और घर पर 1 अप्रैल तक रहा जैसे ही चिकित्सा अधीक्षक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र  को इस बात की सूचना प्राप्त हुई तो उसे क्वारंटाइन के लिए बुला लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *