कानपुर : हिस्ट्रीशीटर के भाई-बेटों ने मिलकर युवक को उतारा मौत के घाट

कानपुर : हिस्ट्रीशीटर के भाई-बेटों ने मिलकर युवक को उतारा मौत के घाट

कानपुर। शहर के ईदगाह गूदड़ बस्ती में हिस्ट्रीशीटर के भाई और बेटों ने मिलकर एक ओला चालक की चापड़ से ताबड़तोड़ प्रहार करके हत्या कर दी। हत्या के बाद हत्यारोपी वहां से फरार हो गए। इस वारदात को शनिवार देर रात अंजाम दिया गया। पुलिस हत्यारोपियों की तलाश कर रही है।

बताया जाता है कि ब्रह्मनगर के रहने वाले अमित (35) ओला टैक्सी चलाते थे। उनके परिवार में पत्नी अलका के अलावा दो बच्चे और दो छोटे भाई हैं।

हिस्ट्रीशीटर की हत्या में नामजद था ओला चालक

उनके भाई गौतम का कहना है कि शनिवार देर रात उनको पता चला कि उनके भाई का झगड़ा हो गया है। जानकारी पर वे लोग भागकर गूदड़ बस्ती पहुंचे। बताया कि वहां देखा कि हिस्ट्रीशीटर बबलू घिस्से के बेटे अभिषेक व भाई संजय समेत करीब आधा दर्जन लोग उनके भाई पर चापड़ से बेरहमी से हमला कर रहे हैं।

बताया कि परिवार के लोगों को देख हत्यारोपियों ने धमकी दी और फिर वहां से भाग गए। उधर, बजरिया इंस्पेक्टर राममूर्ति यादव ने कहा कि मृतक के भाई की तहरीर पर 8 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। बताया जाता है कि 2013 में हिस्ट्रीशीटर बबलू घिस्से की हत्या हो गई थी। वारदात में अमित और गौरव नामजद नामजद आरोपी थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *