गैस सिलेंडर फटने से घर में लगी आग, 2 को मिली दर्दनाक मौत|

मंडी|मंडी जिला की सरकाघाट की कस्मैला पंचायत के भद्रवानी गांव में एक दो मंजिला नवनिर्मित स्लेट पोश मकान में रसोईगैस सिलेंडर को आग लगने और सिलेंडर के फट जाने से 2 की मौत हुआ है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मेहरचंद पुत्र मेघू राम आयु 62 वर्ष और उसकी पत्नी व 35 वर्षीय दिव्यांग अविवाहित बेटी ममतादेवी दिव्यांग होने के कारण घर की खिड़की के पास बैठी थी। मेहचन्द ने जो दो वर्ष पहले ही भारत सरकार के एक उपक्रम से सेवानिवृत्त हुआ था और सेवानिवृत्त होने के बाद उसने अपने लिए नया मकान बनवाया था। घर के सभी लोग प्रातः 4.30 बजे के करीब उठ गए थे। रोजमर्रा की तरह मेहचन्द ने अपनी पत्नी को चाय बनाने के लिए कहा और वह उसने भी चाय का पानी रसोईघर में रखी गैस पर चढ़ा दिया तथा उसके बाद वह शौचालय के लिए चली गई।
इतने में ही रसोई घर में रखे गैस के सिलेंडर से आग पकड़ ली और खिड़की के पास बैठी हुई उसकी बेटी ने शोर मचाया। उस समय मेहरचंद घर के आंगन में टहल रहा था और अपनी बेटी की आवाज सुनते ही वह घर के अंदर को दौड़ा। जब वह रसोई घर में पंहुचा तो उसने देखा कि सिलेंडर ने आग पकड़ ली थी। मेहरचंद ने गैस सिलेंडर को लगी आग को बुझाने का प्रयास किया लेकिन एकाएक सिलेंडर ने आग पकड़ ली और वह ब्लास्ट हो गया। जिसे वह स्वयं और उसकी बेटी के चिथड़े चिथड़े हो गए तथा घर की छत भी उड़ गई। जब मेहरचंद के घर से आसपास के लोगों ने धमाकों की आवाज सुनी और घर को जलते हुए देखा तो वे आग को बुझाने का प्रयास करने लगे और पंचायत प्रधान रामदास व उपप्रधान लेखराज को भी घटना की सूचना दी।
गांव वालों को हादसे का पता तब चला जब मेहरचंद की पत्नी ने चिल्ला चिल्ला कर बताया कि उसका पति और बेटी घर के अंदर हैं। गांव वालों ने घर के अंदर जाने का प्रयास किया लेकिन जलते हुए मकान के अंदर वे नही जा सके। इसी बीच पंचायत प्रधान ने हटली थाना प्रभारी और सरकाघाट में फायरब्रिगेड को भी सूचित किया। पुलिस भी तत्काल घटनास्थल पर पहुंच गई और गांव वालों के साथ आग बुझाने लगी। लेकिन जब तक आग पर नियंत्रण पाया जा सका उस समय तक सभी कुछ जलकर राख हो गया था। जब पुलिस और ग्रामीण घर के अंदर गए तो मेहरचंद और उसकी बेटी की बुरी तरह जलकर मौत हो गई थी। जब तक फायरब्रिगेड पंहुचता उस समय तक पुलिस और गांव वालों ने आग पर काबू पा लिया था। पंचायत प्रधान रामदास के अनुसार करीब 20 लाख रुपए की क्षति होने का अनुमान है। डीएसपी चन्द्रपाल सिंह ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि दोनों मृतकों के शवों का नागरिक अस्पताल सरकाघाट में पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया जायेगा। इसी बीच राजस्व विभाग के कर्मचारी भी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं और आगजनी से हुई क्षति का आकलन करने में लग गए हैं। एसडीएम बालकृष्ण चौधरी ने बताया कि पीड़ित परिवार को नियमानुसार मुआवजा दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *