त्रिपुरा में बिना इजाजत रैली निकाली, 100 से ज्यादा कांग्रेस कार्यकर्ता हिरासत में

त्रिपुरा में बिना इजाजत रैली निकाली, 100 से ज्यादा कांग्रेस कार्यकर्ता हिरासत में

अगरतला
त्रिपुरा में कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि महात्मा गांधी की याद में बिना अनुमति रैली निकालने पर पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज कर उन्हें प्रताड़ित किया। पुलिस ने इस आरोप से इनकार किया है। पुलिस के अनुसार वे सिर्फ यह सुनिश्चित कर रहे थे कि भीड़ तितर-बितर हो जाए। पुलिस सूत्रों ने कहा कि मंगलवार को वरिष्ठ नेता गोपाल चंद्र रॉय और सुबल भौमिक सहित 134 कांग्रेस कार्यकर्ताओं को तीन घंटे से अधिक समय तक हिरासत में रखा गया।
युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव डॉ स्मृति रंजन लेंका ने मीडिया से कहा, हमने महात्मा गांधी के आदर्शों और शिक्षाओं के प्रसार के उद्देश्य से रैली आयोजित की थी। यह गांधी विचार संध्या पदयात्रा थी। यह किसी के विरोध में नहीं की गई थी। लेकिन पुलिस ने कार्यकर्ताओं को लाठियों से पीटा और उन्हें प्रताड़ित किया। उन्होंने कहा कि अग्रिम आवेदन भेजने के बावजूद रैली को अनुमति नहीं मिली थी। सूत्रों के मुताबिक रैली रोकने के लिए पुलिस ने अगरतला सर्किट हाउस के पास एक बैरिकेड लगाया था।
उन्होंने बताया कि प्रदर्शनकारियों के बैरिकेड से आगे बढ़ने की कोशिश करने पर दोनों पक्षों के बीच हाथापाई हुई। कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज के आरोप को नकारते हुए पश्चिम अगरतला पुलिस स्टेशन के प्रभारी सुब्रत चक्रवर्ती ने कहा, ‘हमें यह सुनिश्चित करना था कि बिना अनुमति रैली वाली इस भीड़ को तितर-बितर किया जाए। कुछ घंटों बाद हिरासत में लिए गए लोगों को छोड़ दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *