कानपुर: बाॅयफ्रेंड की मदद से क्वारंटाइन सेंटर से भागी थी संवासिनी…

कानपुर: बाॅयफ्रेंड की मदद से क्वारंटाइन सेंटर से भागी थी संवासिनी…

:- पनकी पुलिस ने तीन युवकों को दबोचा, संवासिनियों से पूछताछ में सामने आए थे नाम

कानपुर। पनकी के क्वारंटाइन सेंटर से दो संवासिनी अपने बाॅयफेंड की मदद से भागी थी। छानबीन के दौरान पुलिस ने एक संवासिनी के दोस्त व उसके दो साथियों को दबोच लिया। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है।

स्वरूप नगर स्थित राजकीय बालिका संरक्षण गृह में जांच के दौरान 57 संवासिनी कोरोना पाॅजिटिव मिली थी। इनमें से कुछ को पनकी के रतनपुर स्थित क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया था। गुरूवार सुबह 4 से छह बजे के बीच इनमें से दो संवासिनी भाग गई थी।

सूचना के बाद सघन चेकिंग अभियान चलाकर दोनों को चमनगंज इलाके के बरामद किया गया था। उन्हें फिर से पनकी क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया था। एसओ पनकी ने बताया कि संवासिनियों से पूछताछ के बाद पता चला कि इन्हें क्वारंटाइन सेंटर से भागने में तीन लड़कों ने मदद की थी।

इसके बाद फरूर्खाबाद के फतेहगढ़, याकूतगंज निवासी रंजीत चक, कन्नौज तिरवा के अषोक नगर, गली नंबर-5 निवासी प्रताप सिंह चक और गोविंदनगर कच्ची बस्ती के पूती लाल को दबोचा गया। तीनों से पूछताछ की जा रही है। पनकी एसओ ने बताया कि राजकीय बालिका संरक्षण गृह की अधीक्षिका ने अभी तहरीर नहीं दी है। उनके तहरीर देते ही केस दर्ज किया जाएगा।

इनसेट

दो और संवासिनी भागी
कानपुर। चौबीस घंटे के भीतर दो और संवासिनियों के भागने का मामला सामने आया है। इस बार चकेरी के कांशीराम क्वारंटाइन सेंटर से दो संवासिनी भाग निकली। हालांकि, जानकारी होने के बाद पुलिस व प्रशासन ने तलाशी अभियान चलाया और दोनों को घंटाघर रेलवे स्टेशन के पास से बरामद कर लिया।

दोनों से पूछताछ की जा रही है। बता दें कि यह वह संवासिनी हैं जो पिछले दिनों स्वरूप नगर स्थित राजकीय बालिका संरक्षण गृह में जांच के दौरान कोरोना पाॅजिटिव पाई गई थी। इस मामले में अभी जांच की जा रही है। संवासिनियों से पूछताछ की जा रही है कि वह क्वारंटाइन सेंटर से क्यों भागी और कहीं उनकी किसी ने मदद तो नहीं की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *