भाजपा से दशकों पुराना रिश्ता तोड़ेगी शिवसेना, आदित्य ठाकरे बनेगे CM..!?, कांग्रेस-एनसीपी से गठजोड़ के संकेत

भाजपा से दशकों पुराना रिश्ता तोड़ेगी शिवसेना, आदित्य ठाकरे बनेगे CM..!?, कांग्रेस-एनसीपी से गठजोड़ के संकेत

महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए महज दो दिन बचे हैं, लेकिन महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के 13 दिन बाद भी मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर स्थिति साफ नहीं हो पाई है। बीजेपी जहां आज राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात करने वाली है, वहीं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी अपनी पार्टी के विधायकों के साथ बैठक करने जा रहे हैं। फिलहाल, शिवसेना विधायक उद्धव के निवास-स्थान मातोश्री पहुंचना भी शुरू कर दिए हैं।वहीं, इस दौरान ख़बर है कि शिवसेना के सांसद संजय राउत ने एक बार फिर कहा है कि किसी भी हालत में महाराष्ट्र का अगला मुख्यमंत्री शिवसेना से ही बनने जा रहा है। इस बीच शिवसेना को डर है कि कहीं बीजेपी उसके विधायकों को तोड़ न ले और बहुमत के आंकड़े हासिल न कर ले। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक शिवसेना अपने विधायकों को टूट-फूट से बचाने के लिए किसी फाइव स्टार होटल में शिफ्ट कर सकती है। खबर है कि उद्धव ठाकरे अपने सभी विधायकों के साथ बैठक करने वाले हैं।मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से खबर है कि कांग्रेस शिवसेना और एनसीपी सरकार के पक्ष में खड़ी है। बुधवार को शिवसेना नेता सजय राउत ने एनसीपी नेता शरद पवार से मुलाकात की थी। इसके बाद उन्होंने मुंबई कांग्रेस के नेता हुसैन दलवाई से भी मुलाकात की। कांग्रेस का कहना है कि उसका मकसद बीजेपी को सत्ता से बाहर रखना है। कहा जा रहा है कि कांग्रेस स्पीकर का पद चाहती है। अगर शिवसेना सही में ऐसा समीकरण चाहती है तो उन्हें अपने केंद्रीय मंत्री को पद छोड़ देने के लिए कहना चाहिए। इससे अपनी सही मंशा का अंदाजा होगा। नहीं तो यह सब दिखावा होगा और अंत में बीजेपी-शिवसेना सरकार बना लेगी। अगर शिवसेना सही में ऐसा समीकरण चाहती है तो उन्हें अपने केंद्रीय मंत्री को पद छोड़ देने के लिए कहना चाहिए। इससे अपनी सही मंशा का अंदाजा होगा। नहीं तो यह सब दिखावा होगा और अंत में बीजेपी-शिवसेना सरकार बना लेगी। यह कैसे संभव है कि शिवसेना केंद्र में बीजेपी के साथ भी रहे और उम्मीद करे कि राज्य में हम उसे समर्थन दें। बता दें कि इस साल मई में सावंत ने मोदी की नई कैबिनेट में भारी उद्योगों और सार्वजनिक उद्यम मंत्री के रूप में कार्यभार संभाला है। उन्होंने आम चुनावों में कांग्रेस के मिलिंद देवड़ा को दूसरी बार हराया था।दुसरी और संघ प्रमुख मोहन भागवत के उद्धव ठाकरे से बातचीत की अटकलों पर संजय राउत ने बताया कि अभी तक इनके बीच कोई बातचीत नहीं हुई है। शिवसेना के सांसद संजय राउत ने एक बार फिर कहा है कि मुख्यमंत्री शिवसेना की तरफ से बनेगा। इससे पहले भी राउत यह बात कई मर्तबा कह चुके हैं। हालांकि, फिलहाल बीजेपी और शिवसेना के बीच आज कोई बात आगे नहीं बढ़ पाई है। मीडिया सूत्रों का कहना है कि एक ओर जहां बीजेपी राज्यपाल से मिलने वाली है। वहीं, पार्टी को अभी भी शिवसेना का इंतजार है। लेकिन, शिवसेना की तरफ से बीजेपी के मुताबिक कोई सकारात्कम हिंट नहीं मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *