शहीद हरीसिंह का राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

रेवाड़ी|सुबह भारतीय सेना व आतंकवादियों से हुई मुठभेड़ के दौरान शहीद हुए रेवाड़ी जिले के गांव राजगढ़ के रहने वाले जवान हरीसिंह का अंतिम सस्ंकार राजकीय सम्मान के साथ किया गया। हरीसिंह की चिता को मुखाग्रि उनके 10 माह बेटे लक्ष्य के हाथों दिलाई गई। इस दौरान 83 आम्र्ड रेजिमेंट ने सेना की ओर से सलामी दी, वहीं शहीद हरीसिंह के अंतिम दर्शनों के लिए भारी जनसैलाब उमड़ा रहा और सभी की आंखें नम थी। वहीं वंदे मातरम के गगनभेदी नारों से आसमान गूंज उठा।
यहां पर केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह, कैबिनेट मंत्री रामबिलास शर्मा, राव नरबीर सिंह, राज्यमंत्री डॉ बनवारीलाल, विधायक रणधीर कापड़ीवास, पूर्व मंत्री शकुंतला भगवादिया, डॉ एमएल रंगा, चौ जसवंत बावल, पूर्व विधायक यादवेन्द्र सिंह व रामेश्वर दयाल सहित, बीजेपी के अनेक पदाधिकारी व एडीजीपी श्रीकांत जाधव, डीसी अशोक शर्मा, एसपी राहुल शर्मा के अलावा तमाम प्रशासनिक अधिकारी एवं विभिन्न राजनीतिक दलों व सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने भी श्रद्धांजलि अर्पित की।
गौरतलब है कि 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद सोमवार को सेना व आतंकियों में मुठभेड़ हुई थी। जिसमें चार जवान शहीद हो गए थे, उनमें से एक हरीसिंह भी थे। वहीं मुठभेड़ में मिली शहादत के बाद जवान हरिसिंह का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव राजगढ़ लाया गया। जिला प्रशासन की ओर से शहीद की अंतिम विदाई के लिए तमाम तरह की तैयारियां पूरी की गई।
इस मौके पर लोगों का सैलाब शहीद के पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन करने के लिए उमड़ पड़ा। गांव भारत माता के जयकारों और पाकिस्तान मुर्दाबाद से गूंजता रहा। इस दुख की घड़ी में जनस्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉक्टर बनवारी लाल, केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह शहीद के घर पहुंचे। जन स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर बनवारीलाल ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि प्रदेश सरकार पूरी तरह शहीद परिवार के साथ है। देश के जवानों ने जिस तरह आतंकियों से लड़ते हुए अपनी शहादत दी है, उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *