स्वाइन फ्लू के बाद अब ‘डेंगू’ का खौफ, जनवरी में प्रदेशभर में 65 पॉजिटिव केस मिले।

जयपुर|प्रदेश अभी तक स्वाइन फ्लू के प्रकोप से उबर भी नहीं पाया है कि उससे पहले ही डेंगू ने यहां डेरा डाल दिया है. तेज सर्दी के कारण जहां एक ओर स्वाइन फ्लू से निपटना सरकार के लिए भारी हो रहा है, वहीं दूसरी ओर डेंगू ने भी दस्तक दे दी है. विभाग के आंकडों की मानें तो पूरे प्रदेश में पिछले एक महीने में डेंगू के 65 केस सामने आ चुके हैं.

प्रदेश में पिछले एक महीने में मिले डेंगू के 65 मामलों में से अधिकतर केस राजधानी जयपुर में पाए गए हैं. जयपुर में डेंगू के 50 केस सामने आए हैं. इसके अलावा कोटा में 10, करौली में 3 और बूंदी में 2 लोग डेंगू से पीड़ित पाए गए हैं. तेज सर्दी के बावजूद मच्छर का सक्रिय रहना ठीक नहीं है. पिछले साल मानसून के तत्काल बाद राजधानी जयपुर में जीका वायरस ने अपना आतंक मचाया था. उससे निपटने के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को पूरी ताकत झोंक देनी पड़ी थी तब कहीं जाकर मामला काबू में आ पाया था.

गत वर्ष जीका के 153 केस सामने आए थे
प्रदेश में जीका की स्थिति को अब नियंत्रण में माना जा रहा है. गत 28 अक्टूबर के बाद जीका का कोई भी केस अब तक सामने नहीं आया है. विभागीय आंकडों के मुताबिक गत वर्ष जीका के 153 केस सामने आए थे. ऐसे में अब यह जरुरी हो गया है कि समय रहते मच्छर जनित रोग डेंगू और जीका पर भी नजर रखी जाए. डेंगू और जीका के मच्छर स्वच्छ पानी में ही पनपते हैं. लिहाजा पानी को लंबे समय तक एक स्थान पर जमा नहीं होने दें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *