2 हजार करोड़ जुटाने के बाद फाइनैंशल फर्म के मालिक ने दी सूइसाइड की धमकी, उमड़ा हुजूम

बेंगलुर|कर्नाटक के बेंगलुरु के शिवाजीनगर स्थित फाइनैंशल फर्म आई मॉनेटरी अडवाइजरी (आईएमए) के ऑफिस के बाहर सैकड़ों निवेशकों का हुजूम उमड़ पड़ा। सभी अपने-अपने पैसों की चिंता में यहां दौड़ पड़े। दरअसल कंपनी के फाउंडर और मालिक मोहम्मद मंसूर खान का एक कथित ऑडियो वायरल हो गया था जिसमें वह भ्रष्ट नेताओं और अधिकारियों को रिश्वत देने से आजिज आकर आत्महत्या की बात कर रहे हैं।
इस ऑडियो क्लिप में कथित रूप से पुलिस कमिश्नर को संबोधित करते हुए मंसूर खान ने वरिष्ठ कांग्रेस नेता और शिवाजीनगर से विधायक आर रोशन बेग पर आरोप लगााया कि उन्होंने मंसूर के 400 करोड़ रुपये लौटाने से इनकार कर दिया और अपनी जान को खतरा बताया। पुलिस अभी इस बात का पता लगा रही है कि मंसूर जिंदा हैं या उन्होंने आत्महत्या कर ली है। इसी के साथ पुलिस मंसूर और उनके परिवार की तलाश में जुट गई है।
यह ऑडियो क्लिप वॉट्सऐप पर तेजी से वायरल होने लगा और सैकड़ों निवेशकों ने शिवाजीनगर पहुंचकर आईएमए के शोरूम पर हमला करने की कोशिश की। हालांकि अतिरिक्त पुलिस बल वहां तैनात किए गए और उन्होंने स्थिति संभाल की। 2006 में लॉन्च हुई आईएमए एक इस्लामिक बैंकिंग और हलाल निवेश फर्म है, जिसने अपने संचालन को पोंजी स्कीम में बदलने से पहले हर महीने 14 फीसदी से 18 फीसदी तक रिटर्न का वादा किया था। कंपनी ने लोगों, खासकर मुस्लिम समुदाय से करीब 2 हजार करोड़ रुपये तक इकट्ठा कर लिए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *